लेकिन चूंकि यह निवेश का एक नया तरीका है और इसका कोई निश्चित ट्रैक रिकॉर्ड नहीं है तो ऐसे में यह जान लेना बहुत जरूरी है कि क्रिप्टोकरेंसी क्या है और इसमें निवेश करने से पहले आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

FPIs bet on financial services sector in November

डॉलर-रुपये की चाल से कैसे कमाई क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है कर सकते हैं आप?

Dollar-Rupee

Dollar-rupee फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट से इस तरह की कमाई का रास्ता खुलता है. ये साप्ताहिक और मासिक सौदे हैं जो निवेशकों को दांव लगाने का मौका देते हैं. दांव इस बात पर कि रुपये के मुकाबले डॉलर की कीमत बढ़ेगी या घटेगी. अगर किसी को लगता है कि डॉलर बढ़ेगा तो वह डॉलर-रुपये के फ्यूचर को खरीदता है. वहीं, डॉलर के कमजोर पड़ने की आशंका को देख वह कॉन्ट्रैक्ट बेचता है.

क्या शेयर खरीदने के लिए खोले गए खाते से फ्यूचर में ट्रेडिंग की जा सकती है?
जी, यह मुमकिन है. शर्त यह है कि ब्रोकर इक्विटी, कमोडिटी और इंटरेस्ट डेरिवेटिव के साथ इस सेगमेंट की पेशकश कर रहा हो.

Investment Tips : विदेशी शेयर बाजार में पैसा लगाने से पहले समझें जरूरी बातें, फिर यूं करें शुरुआत

विदेशी बाजार में पैसा लगाने से पहले कुछ जरूरी बातें जरूर समझ लें.

विदेशी बाजार में पैसा लगाने से पहले कुछ जरूरी बातें जरूर समझ लें.

हाइलाइट्स

भारत के लोगों का विदेशी बाजारों में निवेश लगाता बढ़ रहा है.
तकनीक ने ओवरसीज़ निवेश करना काफी आसान बना दिया है.
भारत में कई म्यूचुअल फंड हाउस विदेशी निवेश का विकल्प मुहैया कराते हैं.

नई दिल्ली. निवेशक इन दिनों विदेशी शेयरों में भी निवेश कर रहे हैं. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के आंकड़ों के हिसाब से 2021-22 में भारतीयों ने 19,611 मिलियन डॉलर का निवेश विदेशी बाजारों में किया है. इससे पिछले साल यह महज 12,684 मिलियन डॉलर था.

भारत सरकार की क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम (LRS) के तहत एक भारतीय एक वित्त वर्ष में 2,50,000 (ढाई लाख) डॉलर विदेश भेज सकता है. रिजर्व बैंक ने समय के साथ इस सीमा में बढ़ोतरी की है. साल 2004 में जब यह स्कीम शुरू हुई थी, तब इसकी सीमा महज 25 हजार डॉलर थी. म्यूचुअल फंड में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निवेश करना आसान हो गया है. इसका प्रोसेस कुछ यूं है…

डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट अच्छी है! चीन को पछाड़ने के लिए भारत के पास मौका, जानिए कैसे?

कमजोर रुपया निर्यात को बढ़ावा देने वाले एफडीआई को लाने में मदद करेगा.

कमजोर रुपया निर्यात को बढ़ावा देने वाले एफडीआई को लाने में मदद करेगा.

चीन निर्यात बढ़ाने और अमेरिका से भुगतान संतुलन को अपने पक्ष में रखने के लिए क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है तीन दशकों करेंसी युआन को जानबूझकर कमजोर रखत . अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated : November 05, 2022, 14:23 IST
कमजोर रुपया निर्यात को बढ़ावा देने वाले प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को लाने में मदद करेगा.
रुपये के मजबूत होने से भारतीय निर्यात को अमेरिकी बाजार में नुकसान होगा.
रुपये की कमजोरी से जुड़े लाभकारी प्रभाव कई अन्य बातों पर भी निर्भर करता है.

मुंबई. डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट से अर्थव्यवस्था को नुकसान होता है लेकिन इसके फायदे भी हैं. दरअसल कमजोर रुपया विदेशी खरीदारों के लिए सस्ता होता है और उन्हें निवेश व खरीदी के लिए प्रोत्साहित करता है. इससे निर्यात को तेजी से बढ़ने में मदद मिलती है. चीन दशकों से अपनी करेंसी युआन को कृत्रिम रूप से कमजोर रखकर अमेरिका के खिलाफ भुगतान संतुलन को अपने पक्ष में रखने में सफल रहा है.

क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है

Investments in securities are subject to market risks. Read all the documents or product details carefully before investing. WealthDesk Platform facilitates offering of WealthBaskets by SEBI registered entities, termed as "WealthBasket Managers" on this platform. Investments in WealthBaskets are subject to the Terms of Service.

WealthDesk is a platform that lets you invest in systematic, modern investment products called WealthBasket.

WealthDesk Unit No. 001, Ground Floor, Boston House, Suren Road, Off. Andheri-Kurla Road, Andheri (East), Mumbai, Mumbai City, Maharashtra- 400093

© 2022 Wealth Technology & Services Private Limited. CIN: U74999MH2016PTC281896

स्कैम का कितना है खतरा

स्कैम की दुनिया के खिलाडियों को क्रिप्टो बहुत पसंद हैं, इसलिए धोखाधड़ी का गंभीर क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है खतरा है। इससे सावधान रहें। नए लोग, जिनके पास अधिक जानकारी नहीं होती, वे स्कैमर्स के झांसे में आसानी से आ जाते हैं। जब किसी विशेष निवेश उत्पाद के बारे में बहुत अधिक चर्चा होती है, तो मंझे हुए व्यापारी ग्राहक से यह कहते हैं कि "हर कोई इसे खरीद रहा है"। यही हाल क्रिप्टो का है। बहुत सारी क्रिप्टोकरेंसी हैं जो वास्तविक नहीं हैं। जालसाजों ने क्रिप्टोकरेंसी क्षेत्र में लाभ की संभावना देखी है और उन्होंने लोगों के पैसे चुराने के लिए कुछ टोकन बनाए हैं। ये फर्जी डिजिटल टोकन भी क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है तेजी से बढ़ रहे हैं।

आजकल कई सेलिब्रिटी भी सोशल मीडिया, रेडियो या टेलीविजन पर बिटकॉइन और अन्य टोकन की मार्केटिंग करते हुए नजर आ रहे हैं। आपको सलाह दी जाती है कि पूरी तरह से सेलिब्रिटी एंडोर्समेंट के आधार पर कोई निवेश निर्णय न लें। किसी सफल निवेशक को आंख मूंदकर फॉलो न करें।

जिम्मेदार और यथार्थवादी बनें

क्रिप्टो निवेश पोर्टफोलियो में हो तो सकता है लेकिन इसका जोखिम बहुत अधिक होता है। अपने पोर्टफोलियो का 10-20% क्रिप्टो में लगाएं, लेकिन सुनिश्चित करें कि जोखिम को कम करने के लिए आपके पोर्टफोलियो में विविधता बनी रहे। 1000 फीसद लाभ के चक्कर में न पड़ें। अपने निवेश के बारे में यथार्थवादी बनें ।

अपने निवेश की गुणवत्ता, विश्वसनीयता और लचीलेपन को बरकरार रखने के लिए बिटकॉइन, ऐथर, एलटीसी जैसे ब्लू चिप स्टॉक से चिपके रहें। आईसीओ नए पेनी स्टॉक हैं। यदि आप उच्च जोखिम वाले निवेश का खतरा उठा सकते क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है हैं तो आईसीओ के लिए जा सकते हैं।

अगर खुद निवेश कर रहे हैं, तो याद रखें.

आपकी पर्सनल कुंजी निजी ही क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है रहनी चाहिए। उसे किसी के साथ साझा न करें। प्रतिष्ठित एक्सचेंजों और पर्स का प्रयोग करें। अपने लाभ और हानि को ट्रैक करें। चूंकि क्रिप्टो वैश्विक करेंसी है और अभी तक 'वास्तविक निवेश' के रूप में इसकी पहचान नहीं की गई है, इसलिए इसका कोई भी स्वरूप आभासी हो सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी स्पेस आपको आकर्षक जरूर लग सकता है, लेकिन यह एक बहुत क्या डॉलर में निवेश करना लाभदायक है ही अस्थिर निवेश है। इसमें किसी भी समय डाउनफॉल का जोखिम रहता है। सबसे बड़ी बात है कि शुरुआत के बाद इसमें कई तरह के घोटाले और फर्जीवाड़े हो चुके हैं। ऐसे में आप इसमें निवेश तभी करें जब आपके पास इस बाजार की ठीक-ठाक जानकारी हो। अगर आप सुरक्षित निवेश चाहते हैं तो एसआईपी, म्यूचुअल फंड या शेयर बाजार में जा सकते हैं। उतार-चढ़ाव यहां भी हैं, लेकिन क्रिप्टोकरेंसी वाली अनिश्चितता नहीं है।

रेटिंग: 4.80
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 783