दोस्तों क्या ही बात करे Yes Bank हम सब इसके बारे में जानते ही है, लेकिन जीं लोगो को नहीं पता Yes Bank एक समय पर 350 रुपये पर होता था लेकिन कंपनी अपनी ही गलतियों से बहुत कर्ज में आ गयी थी। लेकिन अब कंपनी का स्टॉक आपको 13 रुपये पर दिख रहा होगा। लेकिन अछि बात यह है, कि कंपनी अपना कर्ज भी काम कर रही है। और अगर आप इस शेयर में निवेश करने का सोच रहे है, तो अपना वोह पैसा ही निवेश करे जिस पैसे कि आपको अभी जरूरत नाहो। और लाबे समय के लिए ही निवेश करे।

कम कीमत वाले मजबूत कंपनी के शेयर 2022

2022 में भारत में सबसे ज्यादा डिविडेंड देने वाले १० शेयर्स | मजबूत फंडामेंटल और सुरक्षा के साथ अच्छा रिटर्न |

अस्थिर समय में, निवेशक कुछ पैसे कमाने के लिए ज्यादा डिविडेंड भुगतान करने वाले शेयरों की ओर भागते हैं क्योंकि उन्हें इन बाजारों में अनिश्चित पूंजीगत लाभ का डर होता है। रूढ़िवादी और मध्यम निवेशक आमतौर पर इस श्रेणी में आते हैं क्योंकि वे स्थिर रिटर्न या विकास और सुरक्षा चाहते हैं जो उच्च लाभांश उपज स्टॉक अक्सर प्रदान करते हैं। कंजर्वेटिव इन्वेस्टर्स और यहां तक कि रिटायर्ड इन्वेस्टर्स स्टॉक से स्थिर इनकम चाहते हैं, और लंबी अवधि के लिए सबसे अच्छा लाभांश देने वाले स्टॉक पसंद करते हैं| खासकर अगर वे सबसे ज्यादा टैक्स ब्रैकेट में नहीं हैं। आक्रामक निवेशक पूंजीगत लाभ चाहते हैं।

Table of Contents

लंबी अवधि के लिए सबसे अच्छा लाभांश देने वाले स्टॉक स्टॉक क्या हैं?

लाभांश स्टॉक वे कंपनियां हैं जो नियमित लाभांश का भुगतान करती हैं। लाभांश स्टॉक आमतौर पर अच्छी तरह से स्थापित कंपनियां होती हैं जिनके पास शेयरधारकों को आय वापस वितरित करने का ट्रैक रिकॉर्ड होता है। लाभांश को एक इनाम के रूप में वर्णित किया जा सकता है जो सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध कंपनियां अपने शेयरधारकों तक फैली हुई हैं, और इसका स्रोत कंपनी का शुद्ध लाभ है। इस तरह के पुरस्कार या तो नकद, नकद समकक्ष, शेयर आदि के रूप में हो सकते हैं और आवश्यक खर्चों को पूरा करने के बाद ज्यादातर लाभ के शेष हिस्से से भुगतान किया जाता है। हालांकि, कंपनियां व्यवसाय में पुनर्निवेश करने या भविष्य में उपयोग के लिए इसे आरक्षित कम कीमत वाले मजबुत Top 10 कंपनी के शेयर करने के लिए अपने संचित लाभ को बनाए रखने का निर्णय ले सकती हैं।

लाभांश निवेश एक ऐसी रणनीति है जो निवेशकों को संभावित लाभ के दो स्रोत देती है: एक, नियमित लाभांश भुगतान से अनुमानित आय, और दूसरा, समय के साथ पूंजी वृद्धि। लाभांश स्टॉक खरीदना उन निवेशकों के लिए एक बढ़िया तरीका हो सकता है जो आय उत्पन्न करना चाहते हैं या जो केवल लाभांश भुगतानों को पुनर्निवेश करके धन का निर्माण करना चाहते हैं। यह रणनीति कम जोखिम की तलाश कर रहे निवेशकों के लिए भी आकर्षक हो सकती है।

बड़े दर्जे ( Largecap ) की कंपनियों के टॉप 10 कम कीमत वाले मजबुत Top 10 कंपनी के शेयर हाई डिविडेंड देने वाले शेयर। dividend dene wale share list

स्टॉक का नाममार्केट कैप (करोड़ में)लाभांश यील्ड %प्रति शेयर लाभांश (रुपये में)कुल नकद लाभांश भुगतान (करोड़ में)
Bharat Petroleum Corporation Ltd98364.7656815.79666707795326.62
Indian Oil Corporation Ltd97907.2527911.25273996125802.94
Coal India Ltd88774.1015511.10725443167393.88
Hindustan Petroleum Corp Ltd37584.43849.22800865422.751725.11
Indus Towers Ltd62753.783828.64045610220.125985.4
Power Finance Corporation Ltd33146.222087.964954202103534.68
REC Ltd28685.683957.573149742112172.41
Hindustan Zinc Ltd133773.756.72772458721.315972
NHPC Ltd25916.18986.2015503881.62897.44
Embassy Office Parks REIT33887.201316.00843126921.480

शेयर बाजार की टॉप 10 कंपनियों में से 8 का मार्केट कैप 2.61 लाख करोड़ रुपये घटा, रिलायंस को हुआ सबसे ज्यादा नुकसान

शेयर बाजार की टॉप 10 कंपनियों में से 8 का मार्केट कैप 2.61 लाख करोड़ रुपये घटा, रिलायंस को हुआ सबसे ज्यादा नुकसान

शेयर बाजार में सबसे ज्यादा वैल्यू वाली टॉप दस कंपनियों में से आठ कंपनियों को पिछले सप्ताह मार्केट वैल्यू में संयुक्त रूप से 2,61,812.14 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. एशिया के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप (बाजार पूंजीकरण) में सबसे ज्यादा कमी दर्ज की गई.

टॉप दस कंपनियों की इस लिस्ट में आईटी सेक्टर की कंपनियों का बोलबाला रहा. आईटी सेक्टर की सिर्फ इंफोसिस और विप्रो ही ऐसी कंपनियां हैं जो पिछले सप्ताह के कारोबार में लाभ में रहे.

रिलायंस इंडस्ट्रीज को हुआ सबसे ज्यादा नुकसान

पिछले हफ्ते बीएसई सेंसेक्स में 1,774.93 अंक या 3.01 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries Limited) की वैल्यू 79,658.02 करोड़ रुपये घटकर 15,83,118.61 करोड़ रुपये पर पहुंच गई. एचडीएफसी (HDFC) की वैल्यू 34,690.09 करोड़ रुपये घटकर 4,73,922.86 करोड़ रुपये पर पहुंच गई.

बजाज फाइनेंस (Bajaj Finance) का बाजार पूंजीकरण (एम-कैप) 33,152.42 करोड़ रुपये घटकर 4,16,594.78 करोड़ रुपये और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) का मार्केट कैप 27,298.3 करोड़ रुपये घटकर 8,16,229.89 करोड़ रुपये रह गया.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को भी हुआ नुकसान

वहीं, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL) का मूल्यांकन 24,083.31 करोड़ रुपये घटकर 5,24,052.84 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) का मूल्यांकन 24,051.83 करोड़ रुपये घटकर 4,17,448.70 करोड़ रुपये रह गया.

आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) का मूल्यांकन 20,623.35 करोड़ रुपये घटकर 5,05,547.14 करोड़ रुपये और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (Tata Consultancy Services) का मूल्यांकन 18,254.82 करोड़ रुपये घटकर 13,26,923.71 करोड़ रुपये रह गया.

फायदे में रही आईटी सेक्टर की इंफोसिस और विप्रो

इन सभी कंपनियों से अलग, इंफोसिस (Infosys) का मूल्यांकन 26,515.92 करोड़ रुपये बढ़कर 7,66,123.04 करोड़ रुपये पर पहुंच गया और विप्रो (Wipro) का मूल्यांकन 17,450.39 करोड़ रुपये बढ़कर 3,67,126.39 करोड़ रुपये हो गया.

बताते चलें कि शेयर बाजार में सबसे ज्यादा वैल्यू वाली इन टॉप 10 कंपनियों की रैंकिंग में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड सबसे आगे थी. रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाद टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, एचडीएफसी बैंक, इंफोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, भारतीय स्टेट बैंक, बजाज फाइनेंस और फिर आखिरी में विप्रो थी.

अमारा राजा बैटरीज़ (Amara Raja Batteries)

अमारा राजा बैटरीज़ देश के सबसे बड़े लेड एसिड बैटरी (lead acid battery) प्लेयर्स में से एक है. स्टॉक 1025 रुपये के स्तर से गिरकर 617.80 रुपये (मंगलवार, 28 दिसंबर 2021) के मौजूदा स्तर पर आ गया है. कंपनी ने जून 2021 की तुलना में सितंबर 2021 में बेहतर तिमाही नंबर्स प्रस्तुत किए हैं. 30 सितंबर, 2021 को समाप्त तिमाही के लिए EPS 8.44 रुपये था.

कंपनी अब इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बैटरी पर ध्यान केंद्रित कर रही है और नए जमाने के वाहनों के लिए खुद को तैयार कर रही है. इसकी बैटरी Amaron देश की टॉप सेलिंग बैटरियों में से एक है. अब यह स्टॉक एक अच्छी रैली देने की संभावना रखता है.

गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स (Gulf Oil Lubricants)

यह एक और स्टॉक है जो 52-सप्ताह के निचले स्तर के बहुत करीब है. लुब्रिकेंट्स के कारोबार में गल्फ ऑयल शीर्ष खिलाड़ियों में से एक है. इस साल मार्च में देखे गए 827 रुपये के स्तर से शेयर 435 रुपये के करीब 52 सप्ताह के निचले स्तर पर आ गए हैं. एक्सपर्ट इसके फंडामेंटल्स को भी मजबूत ही देखते हैं और 2022 में अच्छा मुनाफा होने की उम्मीद रखते हैं.

यह भारत की दूसरी सबसे बड़ी फार्मा कंपनी है. फंडामेंटली यह कंपनी भी अच्छी है. इसका शेयर प्राइस 52 वीक हाई 1053 रुपये से गिरकर फिलहाल 52 वीक लो 725 रुपये पर खड़ा है. यदि आप फार्मा सेक्टर का कोई बेहतरीन स्टॉक अपने पोर्टफोलियो में जोड़ना चाहते हैं तो यह स्टॉक आपको मिस नहीं करना चाहिए. एक्सपर्ट इसमें एक अच्छी मूवमेंट होने की बात कह रहे हैं.

एलएंडटी फाइनेंस होल्डिंग्स (L&T Finance Holdings)

ये स्टॉक भी अपने 52 हफ्तों के निम्नतर स्तर से ज्यादा दूर नहीं है. यह शेयर 113 रुपये से गिरकर 78 रुपये के आसपास ट्रेड कर रहा है. हालांकि एक्सपर्ट्स को लगता है कि ये स्टॉक रिकवरी करने में थोड़ा समय ले सकता है, मगर जब ये रिकवरी करेगा तो अच्छा-खास लाभ दे सकता है.

(Disclaimer: यहां बताए गए स्‍टॉक्‍स अलग-अलग एक्सपर्ट्स की सलाह पर आधारित हैं. यदि आप इनमें से किसी में भी पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले सर्टिफाइड इनवेस्‍टमेंट एडवायजर से कम कीमत वाले मजबुत Top 10 कंपनी के शेयर परामर्श कर लें. आपके किसी भी तरह की लाभ या हानि के लिए लिए News18 जिम्मेदार नहीं होगा.)

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

कम कीमत वाले मजबूत कंपनियों के शेयर 2022

कम कीमत वाले मजबूत कंपनियों के शेयर 2022: आज हम बात करने जा रहे है शेयर बाज़ार की कम कीमत वाले मजबूत स्टॉक जो आनेवाले समय में शेयरहोल्डर को अच्छी रिटर्न देने की पूरी क्षमता उनके बिज़नस में दिखाई देता हैं। भारतीय शेयर बाज़ार में कम कीमत वाले बहुत सारे पैनी स्टॉक आपको देखने को मिलेगा, लेकिन आपको ये भी देखना होता है कि कंपनी कम कीमत वाले मजबुत Top 10 कंपनी के शेयर का बिज़नस भविष्य में कैसा होगा उसके बारे में भी पढ़े मतलब आपको कंपनी कि पूरी डिटेल जाननी है। और साथ में आपको अपने तरफ से पूरा Fundamental Analysis करना जरुरी है, अगर आपको लगता है फिर ही निवेश करे।

दोस्तों इस आर्टिकल को आप एक सुझाव के रूप में ही मैंने क्योकि कुछ नहीं पता की कौनसी कंपनी कभ प्रॉफिट से डेब्ट में बदल जाये। इस लिए आप जिस भी शेयर में निवेश करे उस शेयर की टाइम – टाइम न्यूज़ या फिर अपडेट लेते रहे। और अगर आप शेयर मार्किट में निवेश करना चाहते है तो Upstox पर अपना Demat Account Free में ओपन करवा सकते है।

Highlights

  • इस साल के टॉप स्मॉलकैप स्टॉक्स में कम कीमत वाले मजबुत Top 10 कंपनी के शेयर शीर्ष 10 में कौन?
  • कई स्मॉलकैप शेयरों ने निवेशकों को मालमाल किया
  • स्मॉलकैप में जोखिम अधिक तो निवेश सावधानी से करें

नई दिल्ली। शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। बीते छह कम कीमत वाले मजबुत Top 10 कंपनी के शेयर महीनों में बाजार में कई बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। इससे लाखों निवेशकों को भारी कम कीमत वाले मजबुत Top 10 कंपनी के शेयर नुकसान उठाना पड़ा है। हालांकि, कई ऐसे शेयर हैं जो इस उठा-पटक से प्रभावित हुए निवेशकों को बंपर रिटर्न दिलाया है। हम आपको ऐसे ही 10 स्मॉलकैप शेयरों की जानाकरी दे रहे हैं जिसने एक साल में शानदार रिटर्न दिया है।

स्मॉलकैप में शानदार रिटर्न देने वाले 10 टॉप शेयर

रेटिंग: 4.42
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 521